अग्नि स्कंध

अग्नि स्कंध केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल का अभिन्न अंग है जो देश की समस्त अग्नि सेवाओं में सबसे बड़ा है जिसकी देखरेख तकनीकी पृष्ठभूमि वाले व्यावसायिक रूप से प्रशिक्षित कार्मिकों द्वारा की जाती है। प्रथम अग्नि स्कंध इकाई 56 कार्मिकों की स्वीकृत संख्या के साथ फर्टिलाइजर्स एंड कैमिकल त्रावणकोर (एफएसीटी) कोचीन में 16.04.1970 में शुरू की गई थी।

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल ही एक ऐसा बल है जिसके पास अपना पूर्णरूप से विकसित अग्नि स्कंध है। अग्नि सेवा स्कंध देश में सबसे बड़ा व्यावसायिक, सुप्रशिक्षित और सुसज्जित अग्नि रोधी बल है जो पेट्रो केमिकल काॅम्पलैक्स, रिफाइनरी, इस्पात संयंत्रों, रसायन और उर्वरक संयंत्रों, पत्तन ट्रस्ट, अंतरिक्ष संगठन, उर्जा संयंत्रों, रक्षा मंत्रालय अधिष्ठापनों और वित्त मंत्रालय के अधीन प्रतिष्ठानों जैसी अति महत्वपूर्ण, एवं संवेदनशील और खतरनाक इकाईयों को आग से बचाव/रोकने की और आग से सुरक्षा उपलब्ध करवा रहा है। सीआईएसएफ का अग्नि स्कंध देश भर में 7716 अग्नि व्यावसायिकों के बल के साथ 102 विभिन्न प्रतिष्ठानों को अग्नि सुरक्षा कवरेज प्रदान करता है। केऔसुब की अग्नि स्कंध ने पिछले तीन वर्षों में वार्षिक रूप से औसतन 203.62 करोड़ की राष्ट्रीय सम्पत्ति को बचाया है।

इसके अतिरिक्त, केऔसुब का अग्नि स्कंध जोखिम आकलन, निरीक्षण एवं अग्नि लेखा परीक्षा, अग्नि संबंधी परामर्श, अग्नि सुरक्षा संबंधी नई प्रौद्योगिकी की शुरूआत और विभिन्न प्लांटों का सर्वेक्षण एवं पुनः सर्वेक्षण करने के संदर्भ में अग्नि सुरक्षा के क्षेत्र में एकीकृत एवं लागत प्रभावी समाधान प्रदान करता है।