परामर्शी सेवाएं आई एस ओ 9001 : 2008

गुणवत्‍ता नीति

सी आई एस एफ सुरक्षा तथा अग्नि संरक्षण के क्षेत्र में अपने व्‍यावसायिक तथा योग्‍यता प्राप्‍त कार्मिकों की एक टीम के जरिए उत्‍तम परामर्शी सेवाएं प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है। स्‍थापित प्रबंधन प्रणालियों में सतत् सुधार के जरिए ग्राहक संतुष्टि में वृद्धि करना ही उद्देश्‍य रहेगा।

गुणवत्‍ता लक्ष्‍य

सीआईएसएफ निम्‍नलिखित के ज़रिए अपनी नीतियों को पूरा करने का प्रयास करेगा :
  • संकट स्थितियों तथा बदलती हुई उपभोक्‍ता आवश्‍यकताओं के अनुरूप अपनी सेवाओं का उन्‍नयन करना
  • कम से कम संभव समय में क्‍लाइंट की जरूरतों पर प्रतिक्रिया करना
  • अनुसूची के अनुसार विंग के सूचीबद्ध अधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान करना
Top

प्रस्‍तावना

सुरक्षा के वैज्ञानिक डिजाइनिंग के लिए, भारतीय व्यापार अब केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) द्वारा प्रदान की जा रही सुरक्षा परामर्श सेवाएं के माध्यम से एक अनूठा अवसर है। सालों से, सीआईएसएफ ने एक व्यापक संसाधन आधार विकसित किया है जो एक प्रतिष्ठान की आवश्यकताओं के अनुरूप सर्वोत्तम सुरक्षा प्रणाली तैयार करते समय विश्वसनीय सुरक्षा विकल्पों की एक श्रृंखला प्रदान करता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सीआईएसएफ समय-परीक्षण सुरक्षा समाधान प्रदान करता है जो आधुनिक प्रौद्योगिकी विकल्पों द्वारा उनके जीवंत आर एंड डी सेल द्वारा विकसित किया जाता है।

उदारीकरण और निजी उद्योगों के लिए अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों को खोलने के साथ, सरकार को एहसास हुआ कि आने वाले दिनों में निजी क्षेत्र राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में अधिक सामरिक महत्व हासिल करेगा। निजी व्यवसायों के लिए किए गए खतरों में एक संगत वृद्धि होगी जिसके लिए सुरक्षा पहलों से मेल खाने की आवश्यकता होगी। नतीजतन, 1999 में, सीआईएसएफ अधिनियम में एक संशोधन से, संसद ने सीआईएसएफ को निजी क्षेत्र में प्रतिष्ठानों को अपनी सुरक्षा परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए अनिवार्य किया।

दिसंबर 2001 को तत्कालीन माननीय उप प्रधान मंत्री, श्री लालकृष्ण आडवाणी ने औपचारिक रूप से नई दिल्ली में सीआईएसएफ की कंसल्टेंसी सर्विसेज लॉन्च की और सीआईएसएफ मुख्यालयों में आर एंड डी और कंसल्टेंसी सेल का गठन किया गया। जून 2002 में, इस सेल को अपनी गुणवत्ता सेवाओं के लिए आईएसओ 9001-2000 प्रमाणीकरण से सम्मानित किया गया था। इस प्रमाणपत्र को वर्ष 2010 में आईएसओ 9001-2008 में अपग्रेड कर दिया गया है।

सी.आई.एस.एफ द्वारा प्रस्‍तुत परामर्शी सेवाएं

सी.आई.एस.एफ ने तीन दशकों से भी अधिक समय से पूरे देश में फैले विभिन्‍न औद्योगिक परिवेशों में अपने व्‍यापक अनुभव के आधार पर उनकी सुरक्षा योजना तैयार करने के लिए निजी उद्योगों को उच्‍च व्‍यावसायिक विकल्‍पों की पेशकश की है। सी.आई.एस.एफ ने अपने क्‍लाइंट को समूचे सुरक्षा समाधानों की पेशकश की है जिसमें निम्‍नलिखित शामिल है :-
  • संकट बोध तथा जोखिम विश्‍लेषण
  • एक्‍सेस कंट्रोल तथा परिधीय संरक्षण
  • जनशक्ति आवश्‍यकताओं का आकलन
  • सुरक्षा प्रणालियों का अनुप्रयोग
  • सुरक्षा तथा अग्नि लेखा परीक्षा
  • दस्‍तावेज सुरक्षा
  • सामग्री सुरक्षा के लिए पद्धतियां
  • आंतरिक आसूचना
  • अग्नि संरक्षण उपाय
  • संकट प्रबंधन योजनाएं
  • कार्यकारी संरक्षण
  • भीड़ नियंत्रण तथा प्रबंधन प्रक्रियाएं
  • संगठन के अधिकारियों तथा कार्मिकों एवं सुरक्षा विंग को सुरक्षा तथा अग्नि संरक्षण मामलों में प्रशिक्षण

परामर्शी शुल्‍क ढांचा

सीआईएसएफ द्वारा लगाई गई परामर्श शुल्क समय-समय पर गृह मामलों के मंत्रालय द्वारा दो साल की अवधि के लिए अनुमोदित की जाती है। 07 मार्च, 2019 से शुल्क संरचना प्रभावी है। ग्राहक संगठन द्वारा अग्रिम में परामर्श शुल्क का भुगतान किया जाना है।

श्रेणी

केवल सुरक्षा परामर्शी सेवाएं

केवल अग्नि परामर्शी सेवाएं

सुरक्षा परामर्श के अलावा अग्नि परामर्श सेवाएं

लार्ज

14,50,000/-

8,25,000/-

18,75,000/-

मीडियम

8,25,000/-

4,25,000/-

11,75,000/-

स्मॉल

4,25,000/-

2,75,000/-

6,50,000/-

Top

पद्धतियां

  • क्षेत्र की पृष्ठभूमि और स्थानीय कानून और व्यवस्था की स्थिति को ध्यान में रखते हुए खतरे की धारणा और जोखिम विश्लेषण किया जाता है। विश्लेषण करने के लिए बाहरी और आंतरिक दोनों खतरों को ध्यान में रखा जाता है। यदि आवश्यक हो तो स्थानीय पुलिस और अन्य सरकारी एजेंसियों की सहायता ली जाती है।

  • सुरक्षा और अग्निरोधी सुरक्षा, अग्नि सुरक्षा के मौजूदा तरीकों, प्रक्रियाओं और प्रथाओं पर किया जाता है। मौजूदा प्रणाली की उत्पादकता का मूल्यांकन किया जाता है और कमियों को स्पष्ट रूप से लाया जाएगा।

  • ऑडिट को संपूर्ण चेकलिस्ट और इंटरैक्टिव विश्लेषण के अलावा स्पॉट निरीक्षणों की सहायता से किया जाता है।

  • गैजेट्री को आवश्यकता के आधार पर सुझाव दिया जाता है और आवश्यक सीमा तक उनके एकीकरण का सुझाव दिया जाता है।

  • सुरक्षा और अग्नि सुरक्षा दोनों के लिए जनशक्ति आवश्यकता का अनुमान लगाया गया है और उनके कर्तव्यों को अच्छी तरह परिभाषित किया गया है। यह जनशक्ति वित्तीय प्रभावों पर नजर डाले बिना पुरुषों और मशीन के इष्टतम मिश्रण के सिद्धांत के आधार पर पहुंची है।

  • क्राइसिस प्रबंधन योजनाओं को ड्राफ्टिंग के दौरान आवश्यकता और ड्रिल का पालन करने के आधार पर डिजाइन किया गया है।

  • स्पेयर और कच्चे माल की आंतरिक चोरी के संबंध में धमकी धारणा को भी ध्यान दिया जाता है।

  • मौजूदा प्रणाली को मजबूत करने के लिए आवश्यक सभी उपायों का सुझाव दिया जाता है। इसमें न केवल शारीरिक सुरक्षा उपायों बल्कि दस्तावेज सुरक्षा, मूल्यवान जानकारी और सूची आंदोलन के रिसाव की रोकथाम शामिल है।

  • सामग्री और तैयार उत्पाद आंदोलन पर प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित भी किया जाता है।

  • जनशक्ति की तैनाती और तैनाती के पैटर्न के साथ उनके कर्तव्यों और जिम्मेदारियों के साथ काम किया जाता है। गार्ड निगरानी योजना भी रिपोर्ट का एक हिस्सा है। जहां भी आवश्यक हो, विभिन्न कर्तव्यों के लिए ऑपरेटिंग प्रक्रियाओं का सुझाव दिया जाता है।

  • सभी मौजूदा गैजेट्री का मूल्यांकन किया जाता है और नए गैजेट के साथ आवश्यक सुधार और उनके एकीकरण का सुझाव दिया जाता है

  • सुरक्षा प्रणालियों का मूल्यांकन करने के लिए एक आंतरिक लेखा परीक्षा प्रक्रिया विकसित की गई है। इसमें संपूर्ण चेकलिस्ट और विश्लेषणात्मक प्रारूप शामिल हैं

  • मौजूदा सिस्टम और प्रतिष्ठान में काम कर रहे विभिन्न समूहों की गतिविधियों का मूल्यांकन करने के बाद जहां भी आवश्यक हो, एक आंतरिक खुफिया संग्रह प्रणाली का सुझाव दिया जाता है।

  • मौजूदा सुरक्षा पहलुओं में नकदी आंदोलन, कच्चे माल और तैयार उत्पाद आंदोलनों का मूल्यांकन किया जाता है और सिस्टम को मजबूत करने के लिए सुझाए गए उपयुक्त तरीकों और प्रक्रियाओं का मूल्यांकन किया जाता है

  • संकट स्थितियों तथा जोखिम विश्‍लेषण पर आ‍धारित अन्‍य सुरक्षा पहलुओं पर भी बल दिए जाने की आवश्‍यकता है

Top

हमारे ग्राहकों का प्रोफाइल

सरकारी क्षेत्र – 75

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम – 46

निजी क्षेत्र – 82

सुरक्षा परामर्श – 58

अग्नि परामर्श – 30

सुरक्षा तथा अग्नि परामर्श – 115

 

क्रम सं०

नाम

वर्ष

203 सीएसआईआर-नेशनल जियोफिजिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, हैदराबाद 2019
202 लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी, मसूरी
201 रीजनल साइंस सिटी, लखनऊ
200 गार्डन रिच शिपयार्ड इंजीनियरिंग लिमिटेड, कोलकाता (02) इकाइयाँ
199 गार्डन रिच शिपयार्ड इंजीनियरिंग लिमिटेड, कोलकाता (03) इकाइयाँ
198 एनएसजी मुख्यालय, मेहरम नगर, पालम
197 नैटग्रिड, बेंगलुरु
196 नैटग्रिड, नई दिल्ली
195 एचसीएल प्रौद्योगिकी, नोएडा
194 मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल
193 गोरखनाथ मंदिर, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश
192 लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड, लखनऊ
191 पकरी बरवाडीह कोयला खनन परियोजना, हजारीबाग, झारखंड
190 नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्प 2018
189 कुंभ मेला, इलाहाबाद
188 यूपी विधान भवन और सचिव लखनऊ
187 फाइनेंशियल मैनेजमेंट एंड रिसर्च (आईएफएमआर) संस्थान,श्री सिटी,चेन्नई
186 माननीय मुख्यमंत्री निवास, 5 कालिदास मार्ग, लखनऊ, यूपी
185 डेली कॉलेज, इंदौर
184 हुगली कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड, कोलकाता
183 एसबीआई, डेटा रिकवरी सेंटर, चेन्नई
182 एसबीआई, डाटा रिकवरी सेंटर, हैदराबाद
181 एसबीआई, जीआईटीसी मुख्य भवन और डाटा सेंटर, सीबीडी बेलापुर, मुंबई
180 ला मार्टिनियर कॉलेज, लखनऊ
179 श्री विद्यानिकेतन एजुकेशनल इंटरनेशनल स्कूल, तिरुपति
178 विबग्योर स्कूल, बेंगलुरु
177 बीपीसीएल वार्डिलबेक प्लांट
176 निर्मल भारती स्कूल
175 बीपीसीएल-स्टाफ कॉलोनी, चेंबूर
174 बीपीसीएल-शिवड़ी परिसर (परिचालन क्षेत्र) मुंबई
173 बीपीसीएल-कॉरपोरेट कार्यालय, खारघर कॉम्प्लेक्स, शिवरी कॉम्प्लेक्स (गैर-परिचालन क्षेत्र) मुंबई
172 राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र, नई दिल्ली
171 ला मार्टिनियर, कोलकाता
170 बिड़ला औद्योगिक और तकनीकी संग्रहालय, कोलकाता
169 ओक्रिज इंटरनेशनल स्कूल,हैदराबाद
168 नेहरू विज्ञान केंद्र,मुंबई
167 सेंट एक्सवियर्स इंस्टीट्यूशन, कोलकाता
166 एनटीपीसी टीसीएमपी, रायगढ़ 2017
165 टाटा स्टील-सीआरसी(वेस्ट),तारापुर
164 टाटा स्टील-जोडा,केंझार
163 टाटा स्टील-पश्चिम बोकारो,रामगढ़
162 टाटा स्टील-नोमुंडी,वेस्ट सिंगभूम
161 टाटा स्टील-जमडोबा और सिजुआ-झरिया
160 पोद्दार इंटरनेशनल स्कूल, मुंबई
159 वीआईटीएम बेंगलुरु
158 केपीसीएल बेंगलुरु
157 ओएमसीएल – रायगडा क्षेत्र
156 ओएमसीएल – कोइरा क्षेत्र
155 ओएमसीएल – क्रोम क्षेत्र
154 ओएमसीएल – बारबिल क्षेत्र
153 ओएमसीएल – गंधमर्दन क्षेत्र
152 ओएमसीएल – बंगूर क्षेत्र
151 ओएमसीएल – डाइटरी क्षेत्र
150 एनएसईआईएल, चेन्नई
149 आईआईटी, भुवनेश्वर (अग्नि)
148 एनआईटी, दुर्गापुर (पश्चिम बंगाल)
147 एनटीपीसी, ईओसी, नोएडा (यूपी)
146 एनएसईआईएल, मुंबई
145 बैंगलोर अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी केन्द्र, बैंगलोर
144 लक्ष्मी मशीन वर्क्स लिमिटेड, कोयंबटूर
143 नाल्को कॉरपोरेट कार्यालय, भुवनेश्वर
142 एसवीपी, एनपीए, हैदराबाद
141 नेहरू मेमोरियल संग्रहालय और पुस्तकालय, नई दिल्ली
140 आईआईटी भुवनेश्वर
139 लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड
138 महालेखा न्यंत्र्रक भवन, आईएनए, नई दिल्ली
137 नर्मदा क्लीन टेक, अंकलेश्वर
136 जीपीसीसी गैस आधारित ऊर्जा परियोजना, अमरेली, गुजरात 2016
135 केंद्रीय जेल, भोपाल
134 आरबीआई केंद्रीय कार्यालय, मुंबई
133 जिपमेर पुडुचेर्री
132 विज्ञान शहर कोलकाता
131 टाटा स्टील प्लांट, जमशेदपुर
130 आईआईटी खड़गपुर
129 आईआईटी पटना
128 हलाडिया पेट्रो केमिकल्स लिमिटेड
127 एनजीएमए नई दिल्लीी
126 आईआईटी दिल्ली
125 आईजीआरएमएस, भोपाल 2015
124 एनजीएमए मुंबई
123 एनजीएमए बेंगलुरु
122 आईआईटी रुड़की
121 श्री साईबाबा संस्थान ट्रस्ट, शिरडी
120 बिहार संग्रहालय पटना
119 डीएआईएस मुंबई120बिहार संग्रहालय पटना
118 स्टेट ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड
117 एनएचपीसी उरी-आई, पावर स्टेशन, जम्मू और कश्मीर
116 एनएचपीसी सलाल, पावर स्टेशन, जम्मू और कश्मीर
115 भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान, पुणे
114 एम्स, नई दिल्ली
113 एग्रो इररायडिएटर, नई मुंबई
112 एचओडी भवन और पुलिस मुख्यालय भवन, एनआरडीए, नई रायपुर
111 इन्फोसिस लिमिटेड, तिरुवनंतपुरम
110 इन्फोसिस लिमिटेड, चंडीगढ़
109 इन्फोसिस लिमिटेड, जयपुर
108 इन्फोसिस लिमिटेड, भुवनेश्वर (कैम्पस-II)
107 इन्फोसिस लिमिटेड, भुवनेश्वर (कैम्पस-I)
106 इन्फोसिस लिमिटेड, चेन्नई (शॉल्स कैंपस)
105 इन्फोसिस लिमिटेड, चेन्नई (कैम्पस-I)
104 माइंड ट्री लिमिटेड,बैंगलोर
103 एसवीपी,एनपीए, हैदराबाद
102
इंफोसिस लिमिटेड, मैसूर 2014  
101 इंफोसिस लिमिटेड, पुणे (फेस-।।)
100 इंफोसिस लिमिटेड, पुणे (फेस-।)
99 इंफोसिस लिमिटेड,बैंगलुरू (सैटेलाइट भवन)
98 इंफोसिस लिमिटेड,बैंगलुरू (मुख्‍य कैम्‍पस)
97 हैदराबाद रेस क्‍लब
96 इलाहाबाद उच्‍च न्‍यायालय लखनऊ बेंच
95 इंफोसिस लिमिटेड, मैंगलोर
94 इंफोसिस लिमिटेड, हैदराबाद
93 आदित्‍य बिरला ग्रुप, मुम्‍बई
92 एनआरडीए रायपुर
91 बजाज ऑटो लिमिटेड
90
इंडियन इंस्‍टीच्‍यूट ऑफ मैनेजमेंट,इंदौर
89 वाटर ट्रीटमेंट प्‍लांट,भन्‍दूप कॉम्‍प्‍लेक्‍स,मुम्‍बई

88

सिक्‍योर मीटर लिमिटेड,उदयपुर (राजस्‍थान)

2013

87

एनएमडीसी,आईएसपी,नगरनार,बस्‍तर

86

टाटा पावर एसईडी,मुम्‍बई

85

पैथन डैम,औरंगाबाद (महाराष्‍ट्र)

84

हिंडाल्‍को इंडस्‍ट्रीयल लिमिटेड,रेणुकोट, उत्‍तर प्रदेश

2012

83

वीओसी पोर्ट, तुतीकोरिन

82

टाटा पावर एसईडी, बैंगलुरू

81

पेट्रोनेट एलएनजी टरमिनल –कोच्चि

80

मैगनीज ओर माइन्‍स ऑफ एम ओ आई एल लिमिटेड

79

ट्रांसपेक साइलॉक्‍स इंडस्‍ट्री लिमिटेड, वडोदरा

2011

78

इंडिया बुल्‍स अमरावती थर्मल पावर प्रोजेक्‍ट, अमरावती

77

इंडिया बुल्‍स सिनार थर्मल पावर प्रोजेक्‍ट, नासिक

76

ईएसआई अस्पताल, नई दिल्ली

75

इलाहाबाद उच्‍च न्‍यायालय और इसके लखनऊ बेंच

2010

74

कंट्रोल डेटा सेंटर, मुम्‍बई

73

आईआरडीए, हैदराबाद

72

इस्‍को बर्नपुर–फॉयर प्रोजेक्‍ट

71

आई डी बी आई बैंक,बांद्रा कुरला कॉम्‍प्‍लेक्‍स,मुम्‍बई

70

आई.डी.बी.आई टॉवर,कफ परेड–मुम्‍बई

69

मध्‍य प्रदेश भवन

68

कृष्‍ण भाग्‍य जाला निगम लिमिटेड

67

टोरेंट फार्मेस्‍यूटिकल,मेहसाना

66

आनंद कैंपस,गुजरात राज्‍य

65

आईटीपीओ प्रगति मैदान,नई दिल्‍ली

2009

64

अल्‍ट्रा टेक सीमेंट लिमिटेड –हिरमी

63

यूटीआई एएमसी, मुम्‍बई

2008

62

एलबीएस अकादमी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेशन,मसूरी

61

बीएसएल बोकारो

60

कर्नाटक स्‍टेट भवन

59

आईआईटी मद्रास, चेन्‍नई

58

रिलायंस एनर्जी लिमिटेड,मुम्‍बई

2007

57

गोल्‍फलिंक बिजनस पार्क,बैंगलुरू

56

इंफोसिस,बैंगलुरू

55

रिलायंस रिफायनरी,जामनगर

54

बनस्‍थली विद्यापीठ,जयपुर

53

एनईआईजीआरआईएचएमएस, शिलांग

52

ओपीजीसीएल,भुवनेश्‍वर

2006

51

एनटीपीसी लिमिटेड, नोएडा

50

आईडीआरबीटी

49

एनआईटी तिरूचिरापल्‍ली

48

दुर्गापुर प्रोजेक्‍ट्स लिमिटेड

47

इलेक्‍ट्रोनिक्‍स सिटी,बैंगलुरू

46

संघी इंडस्‍ट्री लिमिटेड

45

उषा ब्रेको लिमिटेड,हरिद्वार

44

मंत्रिमंडल सचिवालय,नई दिल्‍ली

43

अंतर्राष्‍ट्रीय ट्रैक्‍टर्स लिमिटेड,होशियारपुर

42

विक्‍टोरिया मेमोरियल हॉल,कोलकाता (अग्नि)

2005

41

टिस्‍को लिमिटेड

40

एनबीआरआई,लखनऊ

39

एचआईएल,केरल

38

बंगलोर मेट्रोपॉलिटन ट्रॉंसपोर्ट कॉर्पोरेशन

37

उड़ीसा माइनिंग कॉपोरेशन लिमि‍टेड

36

सेबी मुख्‍यालय,मुम्‍बई

2004

35

इंडियन म्‍यूजियम,कोलकाता

34

उत्‍तम गलवा स्‍टील लिमिटेड,रायगढ़

33

एलएनजी पेट्रोनेट लिमिटेड,दहेज

32

विक्‍टोरिया मेमोरियल हॉल,कोलकाता

31

श्रीराम रेऑन,कोटा

30

श्री सिमेंट लिमिटेड बीवर,अजमेर

29

निजाम ज्‍वेलरी,हैदराबाद

28

आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड, नई दिल्‍ली

2003

27

स्‍टार पेपर मिल्‍स, सहारनपुर

26

इंडियन एग्रीकलचरल रिसर्च इंस्‍टीच्‍यूट, नई दिल्‍ली

25

कर्नाटक विधान सभा, बैंगलुरू

24

हीरो होंडा मोटर्स, धारूहेड़ा

23

पैनेसिया बायोटेक लिमिटेड

22

इंस्‍टीच्‍यूट ऑफ अप्‍लाईड मैनपावर रिसर्च, नरेला दिल्‍ली

21

तिरूमाला तिरूपति और देवस्‍थानम (आन्‍ध्र प्रदेश)

2002

20

जी एम आर (कॉरपोरेट इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर लिमिटेड)

19

एन एस जी मुख्‍यालय, नई दिल्‍ली

18

उदयपुर नगर परिषद

17

सरदार सरोवर नर्मदा निगम लिमिटेड

16

आईडीआरबीटी

15

इंडियन एम्‍बेसी काठमांडु

2001

14

ओएनजीसी नागालैंड

13

आईपीए पारादीप पोर्ट ट्रस्‍ट

12

मेघालय में खनन क्रियाकलाप, यू‍रेनियम कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड

11

एन आई सी एफ एस रोहिणी

2000

10

पासपोर्ट कार्यालय

9

आंध्र प्रदेश विधान सभा और सचिवालय,हैदराबाद

8

दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन

7

उत्‍तर प्रदेश सचिवालय

6

आई आई टी खड़गपुर

5

सर शादीलाल शुगर मिल्‍स,मुजफ्फरनगर,उत्‍तर प्रदेश

4

इनलैंड कंटेनर डिपो,तुगलकाबाद,नई दिल्‍ली

3

डीएफआईडी,इंडिया ब्रिटिश हाई कमीशन

2

टीटीपीपी टांडा

1

वीएसएनएल कोलकाता

1999

Top

परामर्शी सेवाएं प्राप्‍त करने की प्रकिया

 
  • परामर्शी सेवाएं प्राप्‍त करने के लिए एक मांग-पत्र उप महानिरीक्षक/तकनीकी को संबोधित करके सी.आई.एस.एफ मुख्‍यालय भेजा जाए।
  • मांग पत्र प्राप्‍त होने पर एक प्रारंभिक प्रस्‍ताव पत्र भेजा जाता है जिसके साथ एक पुस्तिका (ब्रोशर) जिसमें किए गए परामर्शी क्रियाकलापों का ब्‍यौरा दिया गया है संलग्‍न की जाती है।
  • क्‍लाइंट के सही डाटा तथा उसकी आवश्‍यकताओं के लिए अनुरोध किया जाता है।
  • जहां परामर्श की जरूरत है उस स्‍थल का प्रारम्भिक दौरा किया जाता है।
  • परामर्शी शुल्‍क का निर्धारण निर्धारित मानकों तथा प्रारंभिक दौरे के दौरान सिफारिशों के अनुसार किया जाता है।
  • परामर्शी शुल्‍क प्रस्‍ताव संबंधी पत्र क्‍लाइंट को भेजा जाता हैा
  • अग्रिम शुल्‍क प्राप्‍त होने पर पूर्व-अभिज्ञात विशेषज्ञों की सूची में से एक टीम भेजी जाती है।
  • परामर्शी टीम आपस में सहमत की गई किसी तारीख को लेखा परीक्षा तथा सर्वेक्षण के लिए स्‍थल पर जाती है।
  • परामर्शी टीम ड्राफ्ट सिफारिशें तैयार करके उन्‍हें क्‍लाइंट को भेज देती है।
  • क्‍लाइंट के विचारों को शामिल करने के बाद ड्राफ्ट परामर्शी रिपोर्ट तैयार की जाती है।
  • पुनरीक्षण के लिए परामर्शी विंग को ड्राफ्ट रिपोर्ट प्रस्‍तुत की जाती है।
  • परामर्शी विंग बल मुख्‍यालय द्वारा रिपोर्ट की विवेचनात्‍मक ढंग से जांच की जाती है तथा सुधार यदि कोई हो वे भी किए जाते हैं।
  • रिपोर्ट को अंतिम रूप दिए जाने के बाद उसे महानिदेशक/केऔसुब के अवलोकन तथा अनुमोदन के लिए प्रस्‍तुत किया जाता है।
  • अंतत: रिपोर्ट सर्वेक्षण फीडबैक के अनुरोध के साथ क्‍लाइंट को भेज दी जाती है।
  • फीडबैड की समीक्षा यदि कोई हो क्‍लाइंट से प्राप्‍त की जाती है।
Top

संपर्क करें

उप महानिरीक्षक/तकनीकी
ब्‍लॉक न० – 13, सी.जी.ओ. कॉम्‍प्‍लेक्‍स
लोदी रोड नई दिल्‍ली – 110003
फोन : 011-24362866
फैक्‍स : 011-24361202 
ई-मेल : rnd-consy@cisf.gov.in
Top